Thursday, 21 July 2011

Speak Asian Pain - स्पेअक एशियन दुखी - 21 July 2011

Speak Asian Pain
यह  सरे  समस्या  speakAsiaOnline  के  द्वारा  ही  चालू   की  गयी  है ,कंपनी  ही  इसकी  लिए जिमेदार  है .
न  ही  speakAsiaOnline के  पास  पहले  कोई  वैद  कागज़  थे ,न  ही  इंडियन  गवर्मेंट   में  काम  करने  की  इज़ज्ज़त ले थी.
speakAsiaOnline आम  जनता  की   खून  पसीने  की  कमी  पर  रोटियां  सेक  रही  है  और  ऐश  कर  रही  है . 
speakAsiaOnline को  याद   रकना  चाहिए  की  आम  जनता  को  दुखी  कर  के  कोई  भी  सुखी  नहीं  रह  सकता  .
जो  दुःख  SpeakAsia  ने  आम  जनता  को  दिया  है  उसका  परिणाम  भुगतना  होगा .
Payout की  तारीख  पर  तारीख  बडाये  जा  रहे  है  कयिओं ?
Patience की  भी  एक  limit होती  है .पेनालिस्ट  को  अपना  हक  मांगने  के  लिए  अपनी  आवाज़  बुलंद  करना  होगी .
अब  नालायक  और  शमेलेस  SpeakAsia पर  विश्वास  करने  का  कोई  फायदा  नहीं  है .

अब  RewardPoints (रप) बर्न  करने  के  लिए  हमे  सामान  खरीदना  होगा .
इसमें  में  भी  केवल  35 % तक  रप  बर्न  होगी  बाकि  हमे  अपनी  पोच्केट  से  देना  होगा .
100 RP ecommerce के  लिए  बर्न  होते  तो  कुछ  बात  समाज  में   भी  आती  
इनकी  नोटंकी  कब  तक  चलेगी ?
शमेलेस होने  की  भी  हद  होती  है .
25 lakh पेनालिस्ट  को  दो  महीने  का  सुर्वे  पैसा that is 
2000000 * 4000 * 2 = rs 16000000000 कहा  से  भुगतान  करेंगे ?
क्या  इसका  SpeakAsia के  पास  जवाब  है .
सभी  SpeakAsians  को यह  पता  है  की  कंपनी  इतना  पैसा नहीं  दे सकती है ,फिर  भी  सब  SpeakAsia पर  झूठा  विश्वास  कर  रहे  हैं .
कभी  कभी  तो  ऐसा  लगता  है  की  यह  सब  सर्कार ,मीडिया  और  SpeakAsia की  मिलीभगत  हैं .
जिससे  आम  जनता  को  भेफकुफ़  बनाया  जा  सके .
SpeakAsia यदि  चाहे  तो  सब  का  मूह बंद  कर  सकती  है 

न्यू  website लौंच  तो  हो  गयी  है ,पर  अब  हम  सुर्वे  वाल्लेट  से  सुब्स्क्रिप्तिओन  कोड  भी  नहीं  खरीद  पाएंगे  न  हे  
समे  ID  में  ewallet का  Money  सुर्वे  वाल्लेट  mein  ट्रान्सफर  कर  पाएंगे .
अब  यदि  कोई  कंपनी पर  विश्वास  करके  ज्वाइन  कर  भी  लेता  है  तो  ,
एक  तो  rp बैंक  में  ट्रान्सफर  नहीं  हो  रहा  है  ,और  secondly न  ही  सुर्वे  e wallet से  Subscription  कोड  खरीदे  जायेंगे .

6 Comments:

At 21 July 2011 at 06:11 , Blogger loki said...

isme koi shak nahi ki inhone star news walo ko paise khilaye hainnn... waise to bhag nahi sakte the...company ko band karna ka ye paln inhone bahut pahle se banaya tha.....tarak bajpai tumhe bhagwan kabhi maaf nahi karega...ab ye kahenge ki governement hume business nahi karne de rahi hai...

 
At 22 July 2011 at 13:30 , Blogger asbh said...

xactly
yahi statement di hai
i hope kuch to mil jaye

 
At 23 July 2011 at 04:41 , Blogger dipen choudhury said...

Mr. CEO - what happen to your ESCROW Account. No news now a days. trying to push everything to government? What about the gifts? changing rules - 10%, 90%, survey account, panel account - Now don't tell all these. Tell us about main issue - payment. If star news wrong, you must take action against star news - sorry will not work. Please note, changing rules i/c. ID's, Payment will not be accepted .

 
At 23 July 2011 at 05:45 , Blogger NAZAR said...

KOI TO BATAO HUME HAMARE PAISE KESE MILANGE. AGAR WO INDIA MAI TRF NAHI KAR SATE TO FOREIGN ACCOUNT MAE TRF KARA DO. ABHI PATA CHAL JAEGA KE SPEAK ASIA KITNI SACHHI HAI

 
At 25 July 2011 at 00:55 , Blogger m proud to be SPEAKASIAN said...

pllllll don't panic all panelist because m attend black forum first level of certification. speakasia doing work very smartly if u have not interested company launch "exit option"

 
At 27 July 2011 at 03:31 , Blogger fdf said...

why survey not given on dates 6/7/2011 & 13/7/2011 who pay for this...payout challlo karo abb to had hogayi hamara paisa vapase karo

 

Post a Comment

Subscribe to Post Comments [Atom]

Links to this post:

Create a Link

<< Home